जानिए क्या होता है बिक्री विलेख? – What Is Sale Deed In Hindi | Sale Deed Benefits 2023

What Is Sale Deed In Hindi दोस्तों जब भी हम कोई प्रॉपर्टी खरीदते हैं तो उसका रजिस्ट्रेशन हमें सब रजिस्टार ऑफिस में करवाना होता है। वैसे तो प्रॉपर्टी का रजिस्ट्रेशन करना बहुत ही आसान प्रक्रिया है लेकिन बहुत से लोगों को इसकी जानकारी का अभाव है। प्रॉपर्टी के रजिस्ट्रेशन के समय सेल डीड के बारे में जरूर सुना होगा। इसलिए आज की इस ब्लॉग में हम बात करने वाले सेल डीड के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है। सेल डीड का जानना आपके लिए बहुत जरूरी है क्योंकि सेल डीड के माध्यम से प्रॉपर्टी के ओनरशिप ट्रांसफर होते हैं।

What Is Sale Deed In Hindi?

प्रॉपर्टी में सेल डीड एक महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट होता है जिसका उपयोग प्रोपर्टी लेनदेन में किया जाता है। इस सेल डीड के माध्यम से किसी भी प्रॉपर्टी को विक्रेता से क्रेता के पक्ष में मालिकाना हक़ या ओनरशिप ट्रांसफर किया जाता है। इस सेल डीड में उस प्रॉपर्टी की सारी जानकरी होती है।
सेल डीड को हिंदी में बिक्रीनामा या बैनामा पेपर कहते है। यह एक कानूनी डॉक्यूमेंट है जो प्रॉपर्टी के मालिक को प्रॉपर्टी के अधिकारों को खरीदार के नाम पर ट्रांसफर करने का अधिकार देता है।

What Is Sale Deed In Hindi? और इनमे कौन कौन सी जानकारियां शामिल होती हैं?

जानिए क्या होता है बिक्री विलेख? - What Is Sale Deed In Hindi - Sale Deed Benefits 2023

सेल डीड एक महत्वपूर्ण कानूनी दस्तावेज है इसमें में काफी सारी जानकरी दी जाती है जैसे – विक्रेता और क्रेता के बारे में जानकारी, संपत्ति के बारे में जानकारी, प्रॉपर्टी का आकार, संपत्ति का अंतिम बकाया मूल्य, विक्रेता और क्रेता के बीच शर्तें।
इस सेल डीड के आधार पर ही प्रॉपर्टी का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जाता है।

इन्हें भी पढ़ें -   दाखिल खारिज क्या होता है? Dakhil Kharij Kya Hota Hai? - जानिए दाखिल खारिज के 6 फायदे?

इस बारे में अधिक जानकारी के लिए, आपको स्थानीय कानून और विभागी नियमों का पालन करने और विशेषज्ञ सलाह लेने की सलाह दी जा सकती है, क्योंकि प्रॉपर्टी में संपत्ति के अधिकार और कानून क्षेत्र में बदलते रहते हैं।

Read Also – मॉर्गेज डीड क्या होती है? – Mortgage Deed & Their Types

Sale Deed Format Pdf in Hindi

अगर आप सेल डीड का फॉरमैट डाउनलोड करना चाहते हैं तो भारत सरकार ने अलग-अलग राज्यों के लिए अलग-अलग सेल डीड का फॉर्मेट तैयार किया है जिसे आप राज्य के निबंधन विभाग के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं और उसका प्रिंट आउट निकाल सकते हैं।

नीचे हमने कुछ राज्यों के निबंधन विभाग के ऑफिशियल वेबसाइट का लिंक दिया है, जहां से आप सेल डीड का फॉर्मेट डाउनलोड कर सकते हैं।

सेल डीड कैसे बनाई जाती है? How To Make Sale Deed?

SALE DEED बनाने के लिए आपको सारी जानकारी पता होनी चाहिए इसमें सबसे पहले आप खरीददार का नाम, विक्रेता का नाम, दोनों का स्थायी पता ,उम्र, सारी व्यक्तिगत जानकरी इसके बाद उस संपत्ति का विवरण- जैसे सम्पति का मूल्य क्या है? संपत्ति कहां स्थित है? संपत्ति का रकबा कितना है इत्यादि। ये सभी जानकरी आपको SALE DEED FORMAT में धयानपूर्वक भरना होगा तभी ये सेल डीड मान्य होगी।

सेल डीड और रजिस्ट्री में क्या अंतर है?

जानिए क्या होता है बिक्री विलेख? | What Is Sale Deed In Hindi - Sale Deed Benefits 2023

सेल डीड अंग्रेजी भाषा का शब्द है। सेल डीड को ही रजिस्ट्री व उर्दू में बैनामा कहते हैं। सेल डीड, बैनामा या रजिस्ट्री एक ही प्रकार का कानूनी दस्तावेज होती है। जैसे मान लीजिये कि किसी संपत्ति का हस्तांतरण बैनामा कहलाता है। क्रेता और विक्रेता मिलकर तहसील में जमीन खरीदने और बेचने के लिए सेल डीड तैयार करवाते हैं और इस डीड का सरकारी रिकॉर्ड में रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया ही रजिस्ट्री कहलाती है।
किसी संपत्ति को हस्तांतरित करने या उस दस्तावेज़ को लागू करने योग्य बनाने के लिए आपको पंजीकरण कार्यालय में पंजीकृत करना होगा।

इन्हें भी पढ़ें -   जमीन का केवाला क्या होता है? Jamin Ka Kewala Kya Hota Hai | संपूर्ण जानकारी

बैनामा कब तक मान्य होता है?

भारत में एक बैनामा की वैधता उस राज्य के कानूनों पर निर्भर करती है जिसमें संपत्ति स्थित है। आमतौर पर एक बैनामा जो स्टाम्प शुल्क के भुगतान के बाद पहले ही निष्पादित हो चुका है, उसकी वैधता 3 साल तक होती है। हालाँकि इसकी सीमा अवधि को बढ़ाया जा सकता है।

खुश्की बैनामा क्या होता है?

इसमें वह सभी तरह के नियम व शर्तें लिखी होती हैं जिनके तहत प्रॉपर्टी का हस्तांतरण किया जाता है। ट्रांसफर आफ प्रॉपर्टी एक्ट 1882 के तहत संपत्ति की बिक्री और खरीद से जुड़े मामले की परिभाषा लिखी होती है। इसके अनुसार अचल संपत्ति की बिक्री के लिए दो पक्षों के बीच तय हुई शर्तों का एक कॉन्ट्रैक्ट होता है।

निष्कर्ष

दोस्तों ऊपर हमने जाना कि Sale Deed क्या है? (What Is Sale Deed In Hindi), Sale Deed Format Pdf in Hindi, सेल डीड कैसे बनाई जाती है?, सेल डीड और रजिस्ट्री में क्या अंतर है? , बैनामा कब तक मान्य होता है? और खुश्की बैनामा क्या होता है? इन सभी विषयों पर हमने आपको जानकारी देने की कोशिश की है।

उम्मीद करता हूँ आपको हमारी पोस्ट What Is Sale Deed In Hindi की पूरी जानकारी समझ मे आ गई होगी। फिर भी अगर आपके मन में कोई प्रोब्लेम्स हो तो आप हमें कमेंट सेक्शन में निचे पूछ सकते है, हमें आपके सवालों के जवाब देने में ख़ुशी होगी। इस जानकारी को अपने रिश्तेदारों को ज़रूर शेयर करें ताकि वह भी इस जानकारी का लाभ ले सके।

Sharing Is Caring:

Hello friends, My name is Ajit Kumar Gupta I am the writer and founder of Property Sahayta and share all the information related to real estate investment tips and property guides through this website.

Leave a Comment

error: Content is protected !!