रियल एस्टेट में RERA क्या है? – RERA रजिस्ट्रेशन के लिए पंजीकरण प्रक्रिया

इस लेख में हम आपको RERA रजिस्ट्रेशन टॉपिक के बारे में बताएंगे। सबसे पहले इस लेख में हम बात कर करेंगे। कि आखिर रेरा क्या होता है? रियल स्टेट एजेंट कौन होते हैं? इसके अलावा RERA AGENT की रोल और रिस्पांसिबिलिटी क्या होती है? रेरा एजेंट की और क्या बेनिफिट्स है?
अगर आप रियल स्टेट एजेंट वह डाटा रजिस्ट्रेशन के लिए जाते हैं तो क्या-क्या डॉक्यूमेंट से जिनके आवश्यकता एक रियल स्टेट एजेंट को पड़ेगी। अगर वह रजिस्ट्रेशन करवाते हैं। पूरा रजिस्ट्रेशन प्रोसीजर क्या है? दोस्तों इसके बारे में भी हम डिस्कस करेंगे। और वैलिडिटी पीरियड क्या है? यानी कि जो हमारा रजिस्ट्रेशन है वह कितने समय के लिए वैलिड होता है।

रीयल एस्टेट में रेरा क्या है? – What Is RERA In Real Estate?

रेरा का मतलब (रीयल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी) है। RERA यह भारत सरकार की तरफ से इंट्रोड्यूस किया गया है। और जितनी भी भारत में जो हमारे राज्य हैं यानी कि जितने भी हमारे स्टेट है। वह उनकी रियल एस्टेट प्रॉपर्टी को गवर्न करता है रेगुलेट करता है। इसके अलावा  रेरा के माध्यम से हम ट्रांसपेरेंसी बरकरार रहती है। अकाउंटेबिलिटी बरकरार रहती है और जो हमारे फ्रॉड के चांसेस होते हैं। और या फिर किसी भी तरह का जो मिसालीडिंग या मिस- इंटरप्रिटेशन होता है। जिससे हमारा खरीदार परेशान ना हो सके।
RERA ACT 2016 पार्लियामेंट ऑफ़ इंडिया का वह एक्ट है। जो हमारे खरीदार यानी कि हमारे होम बायर्स को सुरक्षित करता है। सुरक्षा प्रदान करता है वह निश्चिंत हो जाते हैं। जो भी वो प्रॉपर्टी खरीदने जा रहे हैं कि वह प्रॉपर्टी फ्रॉड नहीं है। किसी भी तरह की कोई मिसालीडिंग नहीं है। और दूसरी तरफ जो रेरा एक्ट 2016 है वह हमारे जो रियल स्टेट की प्रॉपर्टी में जो इन्वेस्टमेंट है। उसको बूस्ट करने का काम करता है। तो रेरा एक्ट 2016 के अंतर्गत जो रियल एस्टेट एजेंट है उनको रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य माना गया है।

रेरा रजिस्ट्रेशन क्यों जरूरी है? और इसके  5 फायदे क्या है?

  • सुरक्षित रहेगा आपका पैसा
  • 5 साल तक मिलेगी कंस्ट्रक्शन की वारंटी
  • प्रोजेक्ट की व्यावसायिकता और गुणवत्ता की गारंटी
  • रेरा से रियल एस्टेट क्षेत्र को बढ़ावा मिलने की पारदर्शिता
  • बिल्डर अतिरिक्त क्षेत्र के लिए शुल्क नहीं ले सकते
  • विवादों के लिए त्वरित और प्रभावी न्यायिक समाधान
इन्हें भी पढ़ें -   खुश्की बैनामा क्या होता है? - Khushki Bainama Kya Hota Hai? | सम्पूर्ण जानकारी 2024

रेरा रजिस्ट्रेशन के लिए दस्तावेज की सूची – Documents For RERA Registration?

सबसे पहले एजेंट का नाम होना जरूरी है जो कि उसके पैन कार्ड में मेंशन है। उसके अलावा जो एजेंट का सही एड्रेस है। उसकी जानकारी पूरी और कॉन्टैक्ट डिटेल एक एजेंट का पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ। इसके अलावा इनफॉरमेशन जो भी एंटरप्राइज से रिलेटेड है। यानी कि नाम और रजिस्टर्ड ऐड्रेस और इसके साथ ही विशेष डिटेल चाहिए होती है। अगर कोई ऑर्गेनाइजेशन है जैसे की पार्टनरशिप फर्म प्रोपराइटरशिप फॉर्म प्राइवेट लिमिटेड पब्लिक लिमिटेड या फिर एलएलपी उसके रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ।

रेरा रजिस्ट्रेशन के लिए पंजीकरण प्रक्रिया – Process For Applying RERA Registration?

रियल एस्टेट में RERA क्या है? - RERA रजिस्ट्रेशन के लिए पंजीकरण प्रक्रिया

सबसे पहले हमें जो हमारी स्टेट है। यानी कि जो हमारा राज्य है उसकी रेरा वेबसाइट को विजिट करना होगा। उसके बाद एप्लीकेशन फॉर्म को फिल करना होगा और सारे महत्वपूर्ण डिटेल हमें देनी होगी।
इसके अलावा जो जरुरी डॉक्युमेंट्स है वह अटैक करने होंगे। उसके बाद वेरीफिकेशन प्रोसेस आएगा और अगर वेरीफाई हो जाती हमारी सारी चीजे। तो हमारा एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट हो जाएगा। और एप्लीकेशन फॉर्म में सारी चीज प्रामाणिक पाई जाती हैं। ऑफिशियल की तरफ से तो ऑफिशियल हमें लाइसेंस और सर्टिफिकेट इश्यू कर देगा।

रेरा पंजीकरण के लिए वैधता – Validity For RERA Registration

रेरा रजिस्ट्रेशन की जो वैलिडिटी होती है। वह तो 1 साल के लिए होती है लेकिन डिपेंड करती है की जितनी भी आपने जो फीस Pay की है। वह कितने समय के लिए Pay की है। उसके अनुसार ही वैलिडिटी पीरियड आपका डिफाइन होता है। और इसको रिन्यू भी करते हैं डेट ऑफ एक्सपायरी के बाद फॉर द प्रोसेस के लिए।
 इसके अलावा अगर किसी केस में फ्रॉड हुआ है या फिर जो हमारा एजेंट है उसकी तरफ से कोई मिसलीडिंग हुई है मिस- गाइडिंग किया है उसने अगर हमारे वायरस को यानी हमारे खरीदार को तो उसी टाइम जो हमारी अथॉरिटी है वह लाइसेंस को सस्पेंड भी कर सकती है।

रेरा नंबर ऑनलाइन कैसे चेक करें? – How To Check RERA Registration Online?

  • चरण 1: अपने राज्य की RERA वेबसाइट पर जाएं
  • चरण 2: होमपेज पर प्रॉजेक्ट टैब पर क्लिक करें
  • चरण 3: खोज बॉक्स में प्रोजेक्ट का नाम या डेवलपर का नाम दर्ज करें
  • चरण 4: खोज बटन पर क्लिक करें
  • चरण 5: खोज मां डंडों से मल खाने वाली परियोजनाओं की एक सूची आपके  सामने प्रदर्शित की जाएगी। और जिस प्रोजेक्ट में आपकी रुचि है उसे पर क्लिक करें
  • चरण 6: जैसे की परियोजना का विवरण जैसे डेवलपर का नाम, परियोजना की स्थिति, परियोजना पंजीकरण संख्या, पूरा होने की तारीख और कालीन क्षेत्र एवं आदि प्रदर्शित किया जाएगा
  • चरण 7: यदि आप अधिक जानकारी चाहते हैं। तो आप अपना विवरण देखने के लिए बटन पर क्लिक कर सकते हैं। यह अधिक जानकारी देगी जैसे की स्वीकृत योजनाएं अनुमोदन और अन्य परियोजना संबंधित विवरण प्रदर्शित करेगा

रेरा रजिस्ट्रेशन के लिए कितनी फीस लगती है?

रियल एस्टेट में RERA क्या है? - RERA रजिस्ट्रेशन के लिए पंजीकरण प्रक्रिया

रेरा के तहत एजेंट को पंजीकरण के मामले में या उससे जोड़ी बातो में यदि एजेंट के व्यक्ति है,तो RERA का उस एजेंट के लिए पंजीकरण शुल्क लगभग-लगभग 25,000 रुपए होता है। जबकि अगर एजेंट एक व्यक्ति के अलावा बिज़नेस है तो रेरा पंजीकरण शुल्क उसके लिए 2,50,000 रुपए होगा।

निष्कर्ष / Conclusion

रेरा (रियल एस्टेट रेगुलेटरीशन एंड डेवलपमेंट) का पंजीकरण भारत में निर्माण कार्यों को पारदर्शिता और संवेदनशीलता के लिए बनाया गया है। यह कानून किसी भी परियोजना की शुरुआत से लेकर पूरा कार्यान्वयन तक संपर्क के लिए विक्रेताओं और खरीदारों के बीच एक गंभीर नियंत्रण प्रणाली प्रदान करता है।

रेरा के तहत, प्रत्येक रियल एस्टेट परियोजना का पंजीकरण अनिवार्य है, जिसमें विक्रेता को प्रोजेक्ट की सारी जानकारी और अपडेट प्रदान करनी होती है। इसका लक्ष्य विक्रेता और ग्राहक के बीच संतुलन और विश्वास को बढ़ाना है, साथ ही प्रोजेक्ट की अवधि के दौरान ग्राहकों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है।

इन्हें भी पढ़ें -   प्रॉपर्टी खरीदने से पहले देख लें ये 8 डॉक्यूमेंट - 8 Documents Required Before Buying A Property?
Sharing Is Caring:

Hello friends, My name is Ajit Kumar Gupta I am the writer and founder of Property Sahayta and share all the information related to real estate investment tips and property guides through this website.

Leave a Comment

error: Content is protected !!