घर को पेंट करने की प्रक्रिया : House Painting Process In Hindi | जानिए पेंट करने का सही तरीका

House Painting Process In Hindi – हम सभी लोगों को अपने घर से विशेष लगाव होता है। घर खरीदने के अलावा घर की दीवारों के रंग की अहम भूमिका होती है। अपने घरों के लिए सही रंगों का चुनाव करने से घर में सुख, शांति और सकारात्मकता आती है।

कई लोग घर में अनेकों प्रकार के पेंट करवाते है। लेकिन काफी लोगों को घर में पेंट कराने का सही तरीका मालूम नही होता है। इसलिए मैने सोचा की क्यों न इस टॉपिक पर एक लेख लिख दिया जाए। ताकि जो लोग घर में पेंट कराने की सोच रहें है उनसे सही तरीका मालूम हो सके।

दोस्तों आज के इस लेख में घर में पेंट करने का सही तरीका बताऊंगा। हमें सबसे पहले व्हाइट सीमेंट करने चाहिए या पुट्टी करनी चाहिए? प्राइमर कब इस्तेमाल करना चाहिए और लास्ट में बताऊंगा कि और भारत में कौन-कौन से पेंट अच्छे होते हैं?

इन सब टॉपिक पर एक एक करके जानकारी देने वाला हूं। इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें ताकि पूरी जानकारी प्राप्त हो सके।

घर में पेंट क्यों करना चाहिए?

जब भी हम कोई नया मकान बनाते हैं तो उसकी खूबसूरती तभी दिखती है जब उस घर पर पेंट हो जाता है। यानी की घर की खूबसूरती बढ़ाने के लिए पेंट किया जाता है। अगर हम घर में पेट नहीं करवाएंगे तो घर में छोटे-छोटे क्रैक/ छेद दिखता है जिससे कीड़े मकोड़े का निवास स्थान भी बन जाता है। इसके अलावा घर में पेंट करने से सकारात्मक आती है और घर में रहने वाले सभी व्यक्ति खुश रहते हैं। घर में पेंट करने के साथ-साथ पेट में इस्तेमाल होने वाले रंगों का भी चुनाव अच्छे तरीके से करना चाहिए जिससे घर की खूबसूरती बढ़ जाती है।

घरों को पेंट करने के लिए एक्सटीरियर वॉल यानी बाहरी दीवार और इंटीरियर वॉल यानी भीतरी दीवार की प्रक्रिया अलग-अलग होती है। सबसे पहले बात करते हैं कि इंटीरियर वॉल को पेंट करने के लिए सही प्रक्रिया क्या होती है? इंटीरियर वॉल को पेंट करने के लिए स्टेप बाय स्टेप प्रक्रिया नीचे दी गई है।

घर को पेंट करने का सही तरीका – House Painting Process In Hindi

घर को पेंट करने की प्रक्रिया : House Painting Process In Hindi | जानिए पेंट करने का सही तरीका

क्यूरिंग

क्यूरिंग की प्रक्रिया सबसे पहले की जाती है। क्यूरिंग की प्रक्रिया में पूरे घर में पानी का छिड़काव किया जाता है जिससे दीवार पानी को सोख लें और प्लास्टर करने में आसानी हो। पानी का छिड़काव करके दीवार को अच्छे से प्लास्टर के लिए रेडी करना पड़ता है। क्यूरिंग करने के 3 से 4 दिन बाद दीवार को झाड़ू से साफ कर लें ताकि सभी प्रकार की गंदगी साफ हो सके।

क्यूरिंग के लिए पावर वॉशर का भी उपयोग कर सकते है। इस पावर वॉशर का इस्तेमाल जिद्दी गंदगी को साफ करने किया जाता है।
घर की पेंटिंग शुरू करने से पहले घर का निरीक्षण करना, आवश्यक मरम्मत करना और छोटे छोटे गड्ढे भरना जरूरी है ताकि वॉल पर फिनिशिंग आ सके।

प्राइमर या वॉल पुट्टी

क्यूरिंग के एक हफ्ते बाद प्राइमर या वॉल पुट्टी का इस्तेमाल करना चाहिए l यह पेंटिंग का दूसरा चरण है। दीवारों को सीलिंग से बचाने के लिए प्राइमर या वॉल पुट्टी का उपयोग होता है। इसके अलावा प्राइमर या पुट्टी करने से दीवारों की सतह चिकनी हो जाती है। जिससे पेंटिंग के दौरान पेंट की खपत कम होती है।

इन्हें भी पढ़ें -   जमीन की रजिस्ट्री कैसे होती है? Jamin Ki Registry Kaise Hoti Hai? - नियम 2024

इसके बाद दीवारों पर छोटी छोटी दरार एवं मामूली छेद आदि भरने के लिए पुट्टी की जाती है।
मार्केट में वॉल पुट्टी के काफी सारे ब्रांड मौजूद है। जैसे : JK Wall Putti, Birla White Putti आदि
इन वॉल पुट्टी को पानी के साथ घोल कर लुगदी तैयार कर लेना है फिर उसे गुरमाला की मदद से दीवार पर लगाना है।

दीवारों पर अच्छे से पुट्टी की परत होनी चाहिए। नए दीवारों पर पुट्टी की दो कोटिंग करना चाहिए ताकि अच्छे की दीवार पर फिनिशिंग आ सके। दोस्तों वॉल पुट्टी को बारिश के समय पर दो तीन दिन तक सूखने के लिए छोड़ देना है।

रेगमाल/Sand Paper

दीवारों पर पुट्टी की दो परत करने के बाद उसे 2 दिन के लिए सूखने के लिए छोड़ दे ताकि वॉल पुट्टी दीवारों पर सुख सके। उसके बाद Sand Paper se अच्छे से सेंडिंग करना होता है। सेंडिंग करने के लिए आप 150 नंबर का पेपर इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर वॉल पुट्टी गिला रहेगा तो उसपर पेंट सही से अब्जॉरब नही होगा। जिसके परिणामस्वरूप पुट्टी 1– 2 महीने बाद पपरी बनकर नीचे गिरने लगेगा।

दीवार पर वॉल पुट्टी की 2 कोटिंग के बाद पुट्टी को रेगमाल (Sand Paper) से अच्छे से साफ कर ले। दीवारों पर पुट्टी करने के बाद उसी शाइनिंग तथा फिनिशिंग के लिए रेगमाल का उपयोग किया जाता है।
सेंडिंग करने के बाद आपको झाड़ू या फिर कपड़े की मदद से अच्छे से वॉल को क्लीन कर देना चाहिए।

प्राइमर

रेगमाल (Sand Paper) इस्तेमाल करने के बाद प्राइमर की एक कोटिंग दीवारों पर करें ताकि दीवार चिकना हो सके।
पुट्टी एवं प्राइमर की कोटिंग अच्छे से करने पर दीवारों पर पेंट ज्यादा समय तक टिकी रहती है। इसके अतिरिक्त दीवारों पर सीलन के कारण दरारे एवं फंगस लगने की समस्या भी नही होती है। कई बार पहले प्राइमर लगाकर फिर उसके बाद वॉल पुट्टी अप्लाई करते हैं और कई जगह पर वाइट सीमेंट पहले करवाते और उसके बाद पुट्टी या फिर प्राइमर करवाते है।

इन्हें भी पढ़ें – Home Loan लेने का है प्लान? – जानिए किस बैंक का Home Loan Interest Rates है कम?

दोस्तों जिस दीवार के बाहर साइड बारिश का पानी आता है वहां पर वाइट सीमेंट करवाना चाहिए जिससे सीलन की समस्या ना हो। व्हाइट सीमेंट करवाने से अलग बेनिफिट मिलता है।
प्राइमर को कम से कम 4 से 6 घंटे सूखने देना होता है और उसके बाद हमें पेंट लगाना होता है।

पेंटिंग

अब बात करते हैं तो आपको पेंट कैसे करना है और अच्छी फिनिशिंग और शाइनिंग के लिए कौन से पेंट का इस्तेमाल करना चाहिए।
सबसे पहले दीवारों पर पेंट करने के लिए अपने मनमुताबिक रंग का चयन कर लें। बाहरी दीवारों और भीतरी दीवारों के लिए रंगों का चयन अच्छा होना चाहिए। रंगों का चुनाव करने के बाद पेंट का घोल तैयार कर लें।

उसके बाद पहले पेंट वाले ब्रश से दीवारों पर कोटिंग करें उसके बाद रोला का इस्तेमाल कर सकते हैं। कम से कम मिनिमम दो कोट करने जरूरी होते हैं। चाहे आप डार्क कलर या लाइट कलर कर रहें हो अगर आप पर कोई डार्क कलर करें हो आपको मिनिमम दो कोट तो करना ही है। तभी अच्छे से फिनिशिंग आएगी।
एक कोट के लिए बाद कम से कम तीन से चार घंटे का समय देना है और उसके बाद ही हमें दूसरा कोट लगाना होता है तो यही एक आइडल प्रक्रिया होती है।

इन्हें भी पढ़ें -   Property Par Loan Kaise Le? प्लॉट खरीदने के लिए लोन कैसे मिलेगा? | सम्पूर्ण जानकारी 2023

वैसे तो मार्केट में काफी सारे पेंट उपलब्ध है लेकिन मैं आपको एशियन पेंट का ट्रैक्टर इमल्शन पेंट इस्तेमाल करने की सलाह दूंगा इसके अलावा आप अपने बजट के अनुसार पेंट इस्तेमाल कर सकते हैं।

घर को पेंट करने की प्रक्रिया : House Painting Process In Hindi | जानिए पेंट करने का सही तरीका

इंटीरियर वॉल के लिए बेस्ट कलर

वास्तु के मुताबिक कमरे में सफेद, नीला, गुलाबी, या हल्का हरा रंग करवाना चाहिए। वहीं अगर लिविंग रूम की बात करें तो आप भूरा, हरा, पीला, और मटमैला रंग करा सकते है यह रंग वस्तु के हिसाब से शुभ माना जाता है। अगर आप चाहे तो कॉम्बिनेशन कलर भी करवा सकते हैं।

लिविंग रूम के लिए सबसे लोकप्रिय पेंट सफ़ेद, ऑफ-व्हाइट, बेज हैं। वहीं रसोई और बाथरूम जैसी जगहों के लिए इनेमल पेंट सबसे अच्छा माना जाता है क्योंकि यह पेंट जल प्रतिरोधी और दाग-प्रतिरोधी होता है। जिससे आपकी दीवारें खराब नहीं होगी।

एक्सटीरियर वॉल के लिए बेस्ट कलर

वास्तु के हिसाब से सफेद रंग कराना शुभ माना जाता है। यदि आप घर या ऑफिस में बहसबाजी से बचना चाहते हैं, तो बाहरी हिस्से को सफेद रंग एक अच्छा विकल्प है। सफेद रंग घर से अशुद्ध ऊर्जाओं को हटाएगा और घर को बड़ा दिखाने में भी मदद करेगा। इसके अलावा आप नीला रंग करवा सकते हैं यह एक सुखदायक रंग होता है।

आप बड़ी दीवारों को पेंट करने के लिए कांबिनेशन कलर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। दोस्तों बाहरी दीवारों पर हमेशा डार्क कलर ही अच्छा लगता है। आप चाहे तो दो अलग-अलग रंगों का भी इस्तेमाल कर सकता है।

घर को पेंट करने में कितना खर्च आता है?

घर को पेंट करने की प्रक्रिया : House Painting Process In Hindi | जानिए पेंट करने का सही तरीका

अगर बात करें किसी घर को पेंट करने की लागत की तो यह कई चीजों पर निर्भर करती है, जिसमें घर का आकार, उपयोग किए गए पेंट का प्रकार, आपके घर की स्थिति आदि शामिल है। इसके अलावा अगर आपने प्रोफेशनल पेंटर को चुना है तो उसके चार्ज भी लगने वाले खर्च को प्रभावित कर सकती हैं।

आमतौर पर अगर आपने एक पेशेवर पेंटर को काम करने के लिए चुना है तो इसके लिए 10 हजार से लेकर लाखों रुपये तक चार्ज कर सकता है। हालाँकि आंतरिक पेंटिंग बाहरी पेंटिंग की तुलना में कम महंगी होती है, और कमरों की संख्या, दीवारों की ऊंचाई आदि चीजे लागत को प्रभावित कर सकती हैं।

अपनी आवश्यकताओं के अनुसार अधिक सटीक अनुमान प्राप्त करने के लिए अपने क्षेत्र के कई पेंटिंग ठेकेदारों से चार्ज के बारे में जानकारी प्राप्त करना सही रहेगा। ध्यान रखें कि अनुभवी पेंटर अधिक आकर्षक फिनिश प्रदान करते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों यह पेंट करने का सही तरीका है। अब आपको पता लग चुका होगा किस तरह से घरों में पेंट करना चाहिए।
हमारे घर का रंग हमारे जीवन पर बहुत प्रभाव डाल सकता है। हम सभी चाहते हैं कि हमारे घर उतने ही शानदार दिखें जितना हम जानते हैं। ऐसा तभी संभव जब रंग का चुनाव अच्छे से किया गया हो और आपके घर की समग्र सुंदरता के लिए उपयुक्त हो।
दोस्तों इस लेख में हमने जाना की पेंटिंग करने का सही तरीका क्या है पेंटिंग करने के लिए किन-किन प्रक्रियाओं का सामना करना पड़ता है। इन सभी टॉपिक पर हमने एक-एक करके जानकारी देने की कोशिश की है।

उम्मीद करता हूं आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी अगर यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Sharing Is Caring:

Hello friends, My name is Ajit Kumar Gupta I am the writer and founder of Property Sahayta and share all the information related to real estate investment tips and property guides through this website.

Leave a Comment

error: Content is protected !!