घर का नक्शा पास कराने के नियम UP – जानिए क्या है नक्शा पास कराने के नियम 2024

घर का नक्शा पास कराने के नियम UP : अक्सर यह देखा गया है कि जो लोग मकान बनवाने की तैयारी कर रहे हैं वह खुद के मकान का नक्शा बनवाने के लिए किसी अनुभवी आर्किटेक्चर की तलाश में फिरते हैं। लेकिन शायद उन्हें इस बात का पता नहीं है कि अब मकान बनवाने के दौरान, मकान के नक्शे के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है, इस प्रक्रिया में सरकारी कर्मचारियों द्वारा घर का नक्शा तैयार किया जाता है और इसके साथ ही आपके घर का निरीक्षण भी किया जाता है और अंत में मोहर के साथ नक्शा प्रदान कर दिया जाता है।

इस आर्टिकल में आगे आप घर का नक्शा बनवाने से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में विस्तार से जानेंगे।

घर का नक्शा पास कराना क्यों जरूरी है?

जब कोई भी भारतीय किसी भूखंड पर भवन निर्माण का कार्य करवाता है तब उसे अपने घर का नक्शा बनवाना पड़ता है, इतना ही नहीं बल्कि इस नक्शे को सरकार द्वारा पास करवाना होता है, ताकि बिना किसी परेशानी के घर निर्माण का कार्य पूरा किया जा सके। एक उदाहरण के तौर पर समझे तो जिस प्रकार किसी सिटी में मकान का टैक्स भरना पड़ता है, उसी प्रकार घर का नक्शा पास करवाना भी जरूरी है। अगर कोई व्यक्ति बिना घर का नक्शा पास करवाए, घर का निर्माण करवाता है तब उस पर कानूनी तौर पर जुर्माना लगाया जा सकता है। इसलिए सरकार द्वारा निर्धारित कानून के मध्यनजर घर का नक्शा पास जरूर करवाना चाहिए।

एक दूसरे कारण की तरफ ध्यान दे तो जब आप अपना मकान बनवाते हैं तब आपको इस बात का पूरा अंदाजा नहीं होता कि आपका मकान किस अवस्था में बनकर तैयार हुआ है, अगर आपके मकान की अवस्था ठीक नहीं है और किसी कारण आपके मकान को क्षति पहुँचती है, और इससे आसपास के स्थान में बने हुए मकान को हानि होती है तब इस मामले का निपटारा सरकार को ही करना पड़ता है, क्योंकि जिसका मकान पहले से बना हुआ है उसकी क्षति आपके मकान से ही हुई है, उसके मकान की क्षति की भरपाई के लिए, वह सरकार से अपील कर सकता है।

इस मामले के चलते आपको सरकार की तरफ से लगाए गए जुर्माने के साथ दुसरे व्यक्ति के मकान की क्षति की भरपाई करनी पड़ सकती है, इसलिए यह जरूरी है कि घर का नक्शा पास जरूर करवाना चाहिए।

बगैर नक्शे के मकान बनवाने पर क्या होगा?

घर का नक्शा पास कराने के नियम UP - जानिए क्या है नक्शा पास कराने के नियम 2024

गांव तथा शहर में सरकार द्वारा मकान के नक्शे बनवाने का कानून बहुत पहले से ही जारी किया गया है इसके अंतर्गत हर व्यक्ति को मकान बनवाते समय सबसे पहले मकान का नक्शा तैयार करना पड़ता है। लेकिन कुछ लोग इसको अनसुना करते हैं और बिना नक्शा बनवाए, अपने भवन का निर्माण करवाने लगते हैं ऐसे में अगर व्यक्ति ग्रामीण इलाके में रहने वाला है तब चेकिंग ना होने की वजह से उसे पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता, क्योंकि ग्रामीण इलाकों में मकान चेकिंग का प्रचलन 50% से भी काम है, यही कारण है कि ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग बिना नक्शा बनवाए अपना मकान बनवा लेते हैं।

इन्हें भी पढ़ें -   प्रॉपर्टी में होने वाले फ्रॉड से कैसे बचें? | How To Avoid Property Fraud In India?

लेकिन मकान मंगवाने के दौरान या फिर मकान बनवाने के बाद अगर किसी सरकारी अधिकारी को इस बारे में जानकारी प्राप्त होती है, तब वह आपके मकान के हिसाब से, सरकारी कानून का उल्लंघन करने बदले एक मोटा जुर्माना लगा सकते है।

इसके अलवा नक्शा ना बनवाने की अवस्था में आपके साथ कुछ अन्य परेशानियाँ भी हो सकती हैं, जिन्हें आप आगे पढ़ सकते हैं।

  • अगर आप ग्रामीण इलाके में रहते हैं और आप जहां पर मकान बनवाना चाहते हैं वहां की जमीन 5000 स्क्वायर फीट से ज्यादा है तो आपको घर बनवाते समय मकान नक्शा जरूर बनवाना चाहिए, अन्यथा  इसके बदले आपको जुर्माना भरना पड़ सकता है।
  • अगर कोई व्यक्ति काफी लंबे टाइम से अपनी जमीन पर सरकारी कानून का उल्लंघन करते हुए बिना नक्शे के मकान बनवाता है तब सरकार द्वारा उसके मकान को तुड़वाया भी जा सकता है।

 

घर का नक्शा पास कराने के नियम UP

घर का नक्शा पास कराने के नियम UP - जानिए क्या है नक्शा पास कराने के नियम 2024

उत्तर प्रदेश में घर का नक्शा पास कराने के नियम निर्धारित किए गए हैं। इन नियमों को धयम में रखकर नक्शा पास करवाना जरुरी होता है।

नक्शा पास कराने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियमों और दस्तावेज़ों की आवश्यकता होती है, जैसे कि:

नक्शा और योजना : नक्शा में घर की योजना और डिज़ाइन को स्पष्ट रूप से दिखाना चाहिए। इसमें घर की आकार, कमरों का आकार और स्थान, इमारत की ऊचाई, दरवाज़े, खिड़कियाँ, आदि शामिल होना जरुरी है।

नक्शा अनुमति प्राधिकरण : घर का नक्शा पास कराने के लिए स्थानीय नगर पालिका, नगर निगम, या नगर पंचायत के अनुशार ही घर का नक्शा पास करवाना चाहिए वरना बाद में यही प्राधिकरण आपके घर बनाने पर विरोध कर सकते हैं।

अनुमति आवेदन : नक्शा पास करने के लिए अनुमति आवेदन फॉर्म भरना और सभी आवश्यक दस्तावेज़ संलग्न करना होता है। यह आवश्यक दस्तावेज़ में आमतौर पर आधार कार्ड, स्थानीय निवास प्रमाण पत्र, स्वीकृति पत्र, और अन्य जरूरी दस्तावेज़ शामिल होते हैं।

संबंधित शुल्क : नक्शा पास कराने के लिए निर्माण और संचालन शुल्क का भुगतान करना होता है। अगर आप किसी अच्छे आर्किटेक्ट से घर का नक्शा बनवाते है तो यह शुल्क 5000 रुपये से लेकर 10000 रुपये तक हो सकता है।

दस्तावेज वेरिफिकेशन : आपके स्थानीय नगर पालिका, नगर निगम, या नगर पंचायत द्वारा घर के नक़्शे के साथ सभी दस्तावेज़ को सत्यापित करने के बाद घर बनाने के लिए स्वीकृति प्रदान कर देता है।

इन नियमों के अलावा, स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों की सलाह लेना भी महत्वपूर्ण हो सकता है।

घर का नक्शा फ्री में कैसे बनवाएं?

घर का नक्शा बनवाने के लिए किसी अन्य व्यक्ति की जरूरत पड़ती है जो पूर्ण रूप से आर्किटेक्चर हो। लेकिन आप फ्री में घर का नक्शा बनवाना चाहते हैं तब आपको मोबाइल ऐप की मदद लेनी पड़ेगी। आज के समय में ऐसे अनेकों मोबाइल ऐप उपलब्ध है, जिनके माध्यम से मकान का नक्शा तैयार किया जा सकता है। मकान का नक्शा तैयार करने के लिए आप नीचे बताए गए कुछ मोबाइल ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • Floor Plan Creator App
  • House Plan Drawing App
  • Home Designer 3D
  • Smart Home Design
इन्हें भी पढ़ें -   लीज होल्ड जमीन की रजिस्ट्री कैसे होती है? | Leasehold Property Registration Process

जानकारी के लिए बताना चाहेंगे, फ्री में नक्शा बनाने के लिए  इन सभी ऐप में पैड वर्जन उपलब्ध होते हैं, जिसके लिए आपको कुछ कीमत चुकानी पड़ती है, इस तरह आप समझ सकते हैं कि यह पूरी तरह से निशुल्क नहीं है। इसके अलावा अगर आपको इस ऐप का इस्तेमाल करना नहीं आता तब आप घर का नक्शा बिल्कुल भी तैयार नहीं कर सकते, अतः हम आपके सुझाव देना चाहेंगे कि आप किसी अनुभवी आर्किटेक्चर की मदद से ही अपने घर का नक्शा तैयार करवाएं।

इन्हे भी पढ़ें – Mortgage Loan क्या होता है? जानिए योग्यता और ब्याज दरें

मकान का नक्शा कौन पास करता है?

जब कोई व्यक्ति मकान बनवाने वाला होता है, तब  उसे मकान का नक्शा तैयार करवाने की जरूरत पड़ती है। लेकिन जो लोग पहली बार मकान बनवा रहे हैं उन्हें इस बात की जानकारी नहीं होती कि मकान का नक्शा कौन बनाता है? अगर आप भी उनमें से एक हैं और इस सवाल का जवाब ढूंढ रहे हैं तो जानकारी के लिए बताना चाहेंगे, एक अनुभवी आर्किटेक्चर किसी भी घर का नक्शा तैयार कर सकता है। इसके अलावा आप मकान का नक्शा तैयार करवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं,  इस प्रक्रिया में सरकारी कर्मचारियों द्वारा मकान का नक्शा तैयार किया जाता है।

नक्शा पास कराने में कितना पैसा लगता है?

घर का नक्शा पास कराने के नियम UP - जानिए क्या है नक्शा पास कराने के नियम 2024

अगर कोई व्यक्ति अपना मकान बनवाने वाला है, तब उसके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि नक्शा पास करवाने के लिए कितना पैसा लग सकता है? अगर आप भी इंटरनेट पर इस सवाल का जवाब ढूंढ रहे हैं तब जानकारी के लिए बताना चाहेंगे, मकान के नक़्शे विभिन्न प्रकार से बनवाए जा सकते हैं। आप जितना बेहतर और सटीक नक्शा बनवाना चाहेंगे, उसी हिसाब से एरिया को ध्यान में रखते हुए पैसे लग सकते हैं। किसी भी घर के नक्शे को एक बेहतरीन आर्किटेक्चर ही तैयार करता है। आर्किटेक्चर द्वारा लिए गए चार्ज स्क्वायर फीट के हिसाब से होता है। 

आप अपने एरिया के किसी अच्छे आर्किटेक्चर से इस बारे में बात कर सकते हैं कि वह सामान्य तौर पर घर का नक्शा बनाने के लिए कितना स्क्वायर फीट के हिसाब से चार्ज करता हैं। अगर आप सिटी एरिया में रहकर अपने मकान के लिए नक्शा तैयार करवाना चाहते हैं, तब इसमें 5000 रुपए से लेकर ₹10000 तक का खर्चा लग सकता है। इसके अलावा अगर आप अपने मकान के लिए कुछ बेहतरीन आइडिया चाहते हैं तो उसके आधार पर आपके नक़्शे का खर्च बढ़ जाता है। इसके अलावा आपको नीचे बताए गए कैटिगरी के अनुसार भी चार्ज देने पड़ते हैं, जिसकी सामान्य कीमत (तीनो केटेगरी को मिलाकर) लगभग ₹30000 हो सकती है। 

  • Supervision Charges
  • Sub Division Charges
  • Labour CESS Charges

आप चाहें तो ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से भी घर का नक्शा तैयार करवाया जा सकता है, जिसमें आर्किटेक्चर के मुकाबले कम फीस लगती है, क्यूंकि यह पूर्ण रूप से सरकारी प्रक्रिया होती है। 

निष्कर्ष

इस आर्टिकल के अंत तक आपने घर पास करवाने से पहले कुछ महत्वपूर्ण नियमों को जाना। इसके साथ ही घर का नक्शा पास कराने के नियम UP और आपने नक़्शे बनवाने से सम्बंधित शुल्क विवरण को समझा। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण सवाल, बैगेर नक़्शे के घर बनवाने पर क्या किसी तरह की परेशानियाँ हो सकती है? इस बारे में सम्पूर्ण जानकारी के लिए आर्टिकल  को जरुर पढ़ें।

Sharing Is Caring:

Hello friends, My name is Ajit Kumar Gupta I am the writer and founder of Property Sahayta and share all the information related to real estate investment tips and property guides through this website.

Leave a Comment

error: Content is protected !!